सबरीमाला: मंदिर में प्रवेश करने वाली कनकदुर्गा को ससुराल वालों ने घर से निकाला

0
40
2 जनवरी को कनकदुर्गा (बाएं) के साथ बिंदु (दाएं) मंदिर में प्रवेश करने वाली पहली महिलाएं थीं।

कनकदुर्गा ने महिला साथी बिंदु के साथ 2 जनवरी को भगवान अयप्पा के दर्शन किए थे
सुप्रीम कोर्ट के हर उम्र की महिला के प्रवेश की अनुमति के बाद वे दर्शन करने वालीं पहली महिला

तिरुअनंतपुरम: सबरीमाला मंदिर में प्रवेश करने वाली कनकदुर्गा को उसके ससुराल वालों ने घर से निकाल दिया। वे अभी पुलिस सुरक्षा में सेल्टर होम में रह रही हैं। कनकदुर्गा ने करीब एक हफ्ते पहले अपनी सास पर मारपीट का आरोप लगाया था।

दोनों महिलाओं के प्रवेश के बाद राज्य में भड़की थी हिंसा
कनकदुर्गा (39) ने महिला साथी बिंदु (40) के साथ 2 जनवरी को भगवान अयप्पा के दर्शन कर 800 साल पुरानी प्रथा को तोड़ा था। दोनों ने मंदिर में पूजा अर्चना भी की थी। इसके बाद पूरे राज्य में प्रदर्शन भड़क गए थे। वे सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद प्रवेश करने वाली पहली महिला थीं।

कनकदुर्गा ने अपने ससुरालवालों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पुलिस उन्हें अपने साथ उनके घर ले गई थी, लेकिन कनकदुर्गा के पति अपनी मां और दो बच्चों के साथ पहले ही कहीं और चले गए।

सुप्रीम कोर्ट ने दी थी महिलाओं के प्रवेश की अनुमति
28 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने मंदिर में हर उम्र की महिला को प्रवेश की इजाजत दी थी। इस फैसले के खिलाफ केरल के राजपरिवार और मंदिर के मुख्य पुजारियों समेत कई हिंदू संगठनों ने सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर की थी। हालांकि, अदालत ने सुनवाई से इनकार कर दिया। इससे पहले यहां 10 से 50 साल उम्र की महिला के प्रवेश पर रोक थी। यह प्रथा 800 साल पुरानी है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पूरे राज्यभर में विरोध जारी है।

  सीबीआइ चीफ के पद से आलोक वर्मा की हुई छुट्टी, पीएम मोदी की अध्यक्षता और विपक्ष के नेता खड़गे समेत बड़े नताओं के पैनल ने लिया फैसला

सरकार का दावा- 51 महिलाएं कर चुकीं प्रवेश
सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद 10-50 उम्र की 51 महिलाओं ने मंदिर में प्रवेश करके भगवान अयप्पा के दर्शन किए। केरल सरकार ने हलफनामा दाखिल करके चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच को बताया कि मंदिर में प्रवेश करने वाली 10-50 उम्र की सभी महिलाओं को सुरक्षा मुहैया कराई जा रही है।

हालांकि, सरकार के इस हलफनामा पर सवाल उठे थे। सरकार की लिस्ट में कुछ पुरुषों के और 50 से अधिक उम्र वाली महिलाओं के नाम भी शामिल थे।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here