सीएम योगी की यूपी पुलिस को नसीहत – मानवाधिकारों की रक्षा हमें आम आदमी के दृष्टिकोण से करनी होगी

0
17

प्रदेश में 5 लाख करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव आया है और यह सिर्फ प्रदेश के भीतर सुरक्षा के एक बेहतर वातावरण के कारण संभव हुआ है – सीएम योगी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लगातार बढ़ रहे अपराध को रोकने के लिए तकनीक विकसित करने और उसका विस्तार करने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि यूपी पुलिस ने प्रदेश में जिस तरह का सुरक्षा का वातावरण कायम किया है, उससे पूरे देश में उसकी सराहना हो रही है। यही नहीं, सीएम योगी ने उत्तर प्रदेश को सबसे सुरक्षित प्रदेश बताया।

शुक्रवार को पुलिस वीक समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों व उनके मातहतों का मनोबल बढ़ाया तो इशारों में उन्हें नसीहत भी दी। योगी ने कहा कि, पुलिस अधिकारियों व कर्मियों को यम और नियम के साथ काम करना चाहिए। जनता का बल बनिए, जनता का बला मत बनिएगा। क्योंकि, कार्रवाई करते अच्छा नहीं लगता है। अच्छे कप्तानों के ट्रांसफर पर सुखद फीडबैक मिलता है, लेकिन खराब कप्तानी पर लोग खुशियां मनाते हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, ‘इससे हमारी जिम्मेदारी और बढ़ जाती है। अब हमें मानवाधिकारों की रक्षा कॉमनमैन की दृष्टि से करनी होगी।’ योगी शुक्रवार को पुलिस वीक कार्यक्रम में अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 5 लाख करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव आया है और यह सिर्फ प्रदेश के भीतर सुरक्षा के बेहतर वातावरण के कारण संभव हुआ है। उन्होंने कहा कि पुलिस के हर अधिकारी को चाहिए कि वह प्रतिदिन कम से कम दो घंटे आम लोगों से मिले और उनकी समस्याओं को सुने। उनकी शिकायतों का प्रभावी तरीके से निस्तारण किया जाए।

बढ़ते अपराधों को रोकने के लिए तकनीक विकसित करने की जरूरत – सीएम योगी

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने पुलिस वीक कार्यक्रम में संबोधित करते हुए कहा कि पहले लोग सोचते थे कि यहां कानून व्यवस्था कभी सही हो नहीं पाएगी, लेकिन पुलिस ने इसे सही कर दिखाया।

मीडिया ब्रीफिंग हो पर रिपोर्ट लीक होने से सख्ती से निपटा जाए – सीएम योगी

  मानवता के सबसे बड़े संगम कुम्भ के दिव्य एवं भव्य आयोजन के लिए तैयार हो रहा प्रयागराज

सीएम योगी ने अफसरों की हिदायत दी कि गंभीर मामलों की रिपोर्ट मीडिया में लीक नहीं होनी चाहिए। इससे अपराधियों को सजग होने में मदद मिल जाती है। सक्षम अधिकारी इससे सख्ती से रोकें। सीएम योगी ने एडीजी, आईजी, डीआईजी, एसएसपी व एसपी स्तर के अधिकारियों को थानों का निरीक्षण करने का निर्देश दिया। कहा कि, पुलिस को आम जनता के प्रति संवेदनशील होना चाहिए। सभी अधिकारी आम जन के साथ अच्छा व्यवहार करें। जिससे आम जनता के अंदर पुलिस के प्रति विश्वास बढ़े। लापरवाही से होने वाली कोई भी वारदात पूरे पुलिस काे कटघरे में खड़ा कर देती है। इसलिए अधिकारी टाइम पास करने की नीयत से काम न करें।

सीएम ने कहा कि यूपी के प्रति लोगों का परसेप्शन बदलने में पुलिस की अहम भूमिका रही है। पहले यूपी में रहने वाला हर आदमी सोचता था कि क्या यहां कानून व्यवस्था कभी सही हो पाएगी। लेकिन पुलिस ने ऐसा कर दिखाया है। इस समय उत्तरप्रदेश सबसे सुरक्षित प्रदेश है। नवंबर 2107 में प्रधानमंत्री के पास गया था। उनको विश्वास नहीं हुआ कि, हम इन्वेस्टर समिट करवा पाएंगे। लेकिन हमने सफलता पूर्वक समिट करवाके दिखा दिया। जिसमें अहम भूमिका यूपी पुलिस की थी।

अखिलेश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि डेढ़ साल पहले अपराध के मामले में यूपी का बुरा हाल था। लेकिन हमने यूपी में सुरक्षित वातावरण बनाया है और इस वातावरण को छोटा आदमी हो या बड़ा आदमी सबने महसूस किया है। उद्योगपति कसम खा कर बैठे थे कि हम यूपी में निवेश नहीं करेंगे, लेकिन हमने इतना सुरक्षित वातावरण बनाया कि 5 लाख करोड़ का निवेश यूपी में किया है। इस बात का श्रेय यूपी पुलिस को जाता है।

  राम रहीेम के लिए कयामत की बीती कल की रात, पत्रकार हत्याकांड में कोर्ट आज सुनाएगा फैसला

पुलिस वीक में सीएम योगी के पुरे संबोधन को यहाँ सुने;

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here